UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.1 निम्न में से सही मुहावरा है-

A. आँखों पर चर्बी चढ़ना
B. आँखों पर चिकनाई चढ़ना
C. आँखों पर नींद चढ़ना
D. आँखों पर मोटापा चढ़ना

Correct Option: 1

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.2 ‘बाँका’ का पर्याय निम्न में से है-

A. उल्टा
B. सीधा
C. तिरछा
D. चौड़ा

Correct Option: 3

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.3 हेतुहेतुमद् भविष्य काल की दृष्टि से सही वाक्य है-

A. आप कमाएँ तो हम खाए।
B. उसने खाना खा लिया होगा।
C. तुम किताब पढ़ रहे थे।
D. उसने क़लम खरीदी थी।

Correct Option: 1

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.4 सामान्य वर्तमान के उचित क्रिया पद से वाक्य पूर्ण करें-प्रतिदिन शाम में लगभग 5:30 बजे दिल्ली के लिए यहाँ से हवाई जहाज़ ______।

A. मिलता होगा
B. मिल रहा है
C. मिलता है
D. मिलेगा

Correct Option: 3

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.5 ‘विस्तृत’ का विलोम शब्द है-

A. तुच्छ
B. प्रसार
C. विशाल
D. संकुचित

Correct Option: 4

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.6 वाक्य विन्यास की दृष्टि से शुद्ध वाक्य का चयन कीजिए-

A. उसकी असावधानी का परिणाम यह हुआ कि हम हार गये।
B. कि हम हार गये परिणाम यह हुआ उसकी असावधानी का।
C. परिणाम यह हुआ असावधानी का उसकी कि हम हार गये।
D. हम हार गये कि परिणाम यह हुआ उसकी असावधानी का।

Correct Option: 1

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.7 वाक्य विन्यास की दृष्टि से शुद्ध वाक्य का चयन कीजिए-

A. मनाये जाने का इस वर्ष को विश्वविद्यालय की स्वर्ण जयंती के रूप में हमें हर्ष है।
B. इस वर्ष को विश्वविद्यालय की स्वर्ण जयंती के रूप में मनाये जाने का हमें हर्ष है।
C. विश्वविद्यालय की स्वर्ण जयंती के रूप में मनाये जाने का इस वर्ष को हमें हर्ष है।
D. हमें हर्ष है विश्वविद्यालय की स्वर्ण जयंती के रूप में मनाये जाने का इस वर्ष को।

Correct Option: 2

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.8 कारक विभक्ति चिह्न प्रयोग की दृष्टि से अशुद्ध वाक्य है-

A. एक घोड़ा, दो गदहे और बहुत सी बकरियाँ मैदान में चर रही हैं।
B. एक घोड़ा, दो गदहे और बहुत सी बकरियाँ मैदान पर चर रही हैं।
C. एक घोड़ा, दो गदहे और बहुत सी बकरियाँ मैदान से चर रही हैं।
D. एक घोड़ा, दो गदहे और बहुत सी बकरियाँ मैदान को चर रही हैं।

Correct Option: 1

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.9 निम्न में से कौन-सा विलोम युग्म असुमेलित है-

A. वीर – अवीर
B. वैध – अवैध
C. वैतनिक – अवैतनिक
D. विहित – अविहित

Correct Option: 1

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.10 निम्न में से किस मुहावरे का अर्थ ‘मरने वाला होना’ है-

A. आँखे फेर लेना
B. अबे-तबे करना
C. अब तब करना
D. अब तब होना

Correct Option: 4

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Comprehension:निम्नलिखित गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़ें और प्रश्न का उत्तर दीजिए।अठाहरवीं सदी में सामाजिक जीवन और संस्कृति की खास बातें जड़ता और भूतकाल पर निर्भर थीं। लोग धर्म,क्षेत्र, क़बीले, भाषा और जाति के आधार पर विभाजित थे। जाति हिंदूओं के सामाजिक जीवन की मुख्य विशेषता थी। हिंदू चार वर्णों के अतिरिक्त अनगिनत जातियों में बँटे हुए थे। ब्राह्मणों के नेतृत्त्व में उच्च जातियों ने सब सामाजिक प्रतिष्ठा और विशेषाधिकार पर अपना एकाधिकार क़ायम कर रखा था। अंतर्जातीय विवाहों की मनाही थी। कतिपय स्थितियों में उच्च जातियों के लोग छोटी जातियों के लोगों का छुआ खाना नहीं खाते थे। बहुधा जातियाँ ही पेशे को निर्धारित करती थीं। मुसलमान भी जाति, नस्ल, क़बीले और दर्जे की दृष्टि से कम विभाजित नहीं थे। हालाँकि उनके धर्म में सामाजिक समानता का निर्देश दिया था। अठाहरवीं सदी के भारत में परिवार की व्यवस्था पितृसत्त्तात्मक थी। संपत्ति में दायभाग सिर्फ पुरुषों को ही मिलता था। परंतु केरल के नायर समुदाय में परिवार मातृप्रधान था। माता तथा पत्नी के रूप में स्त्रियों को आदर दिया जाता था।पर्दा अधिकतर उच्च वर्गों में ही प्रचलित था। सभी शादियाँ परिवार के प्रधान तय करते थे। पुरुषों में बहुविवाह का प्रचलन था। बाल-विवाह प्रथा सारे देश में प्रचलित थी। उच्च वर्गों में शादियों पर भारी खर्चा करने और दहेज देने की कुप्रथा प्रचलित थी। युग की दो बड़ी सामाजिक कुरीतियाँ थी सती प्रथा और विधवाओं की खराब अवस्था। सती प्रथा में पति की चिता पर विधवा स्त्री को भी बैठा दिया जाता था। दक्षिण भारत में यह प्रथा प्रचलित नहीं थी। मराठों ने भी उसे बढ़ावा नहीं दिया। विधवा विवाह उच्च जातियों में प्रचलित नहीं था। किंतु महाराष्ट्र के गैर ब्राह्मण जाट और उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों के लोगों में विधवा पुनर्विवाह काफी प्रचलित था। आमेर के राजा जयसिंह और मराठा सेनापति परशुराम भाऊ ने विधवा पुनर्विवाह को बढ़ावा देने की असफल कोशिश की। SubQuestion No : 11Q.11 जाति व्यवस्था के संदर्भ असत्य है-
A. उच्च जातियों को विशेषाधिकार प्राप्त थे।
B. अंतर्जातीय विवाह की मनाही थी तथा छुआछूत का प्रचलान था।
C. मुसलमानों में धर्म के अनुरूप जाति प्रथा नहीं थी।
D. पेशे का निर्धारण भी आमतौर पर जाति से होता था।

Correct Option: 3

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.12 गद्यांश से निष्कर्ष नहीं निकलता है-

A. मुख्यत: समाज पुरुष प्रधान था एक-आध अपवाद छोड़कर।
B. समाज वर्ण, धर्म, जाति आदि आधारों पर विभाजित था।
C. सम्पूर्ण समाज रूढ़ियों तथा अज्ञानता से ग्रस्त था।
D. स्त्रियों की सामाजिक दशा उत्तम थी।

Correct Option: 4

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.13 गद्यांश के लिए उचित शीर्षक होगा-

A. पितृसत्तामक समाज
B. जाति व्यवस्था और हिंदू धर्म
C. स्त्री जीवन की त्रासदी
D. सामाजिक और सांस्कृतिक जीवन

Correct Option: 4

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.14 ‘अठाहरवीं सदी में सामाजिक जीवन और संस्कृति की खास बातें जड़ता और भूतकाल पर निर्भर थीं’ से क्या तात्पर्य है?

A. उस समय के लोग जड़, कंद, मूल खाते थे और भूतों मे विश्वास रखते थे।
B. सारी सामाजिक और सांस्कृतिक परम्पराएँ पुरानी थीं।
C. समाज में भूतकाल को महत्त्व दिया जाता था, भविष्य की चिंता नहीं थी।
D. समाज पारम्परिक सोच और रुढ़िवादिता में जकड़ा हुआ था।

Correct Option: 4

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.15 18वीं सदी के पारिवारिक जीवन की विशेषता नहीं है-

A. सम्पत्ति में दायभाग सिर्फ पुरुष को मिलता था।
B. परिवार का वरिष्ठ पुरुष सदस्य उसका मुखिया होता था।
C. पुरुषों में बहुविवाह का प्रचलन था।
D. सभी वर्ग की स्त्रियों में पर्दा प्रथा का प्रचलन था।

Correct Option: 4

UPPCL TG2 Paper 8 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Category –EE Online Test

Telegram-Join Us On Telegram