UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.1 ‘टंटा खड़ा करना’ मुहावरे का अर्थ है-

A. घर बनाना
B. धोखा देना
C. टैंट लगाना
D. झगड़ा खड़ा करना

Correct Option: 4

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.2 हेतुहेतुमद् भविष्य काल की दृष्टि से सही वाक्य है-

A. इतिहास कहता है कि ज़माना ज़रूर बदल जाएगा।
B. हम लोग उनकी गलत बातों का विरोध कर रहे हैं।
C. इतनी गर्मी रहे तो सारे हिमनद पिघल जाए।
D. रात गहराने लगी है, अब बाज़ार बंद हो रहा होगा।

Correct Option: 3

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.3 ‘विपिन’ का पर्याय है-

A. प्रसाद
B. अरण्य
C. वामा
D. वन्य

Correct Option: 2

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.4 ‘खंडन’ का विलोम शब्द है-

A. मंडन
B. मंडक
C. मंडा
D. अखंड

Correct Option: 1

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.5 संदिग्ध वर्तमान के उचित क्रिया पद से वाक्य पूर्ण करें-हिमालय में वर्षा ______।

A. होती होगी
B. होती रहती हैं
C. हो सकती है
D. होती है

Correct Option: 1

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.6 ‘राज्ञी’ का पर्यायवाची शब्द है-

A. भार्या
B. महिषी
C. दासी
D. निशा

Correct Option: 2

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.7 उचित विशेषण शब्द से वाक्य पूर्ण करें –______ हवा के स्पर्शन से मन उत्फुल्ल हो जाता है।

A. ऊष्म
B. शुष्क
C. बासंती
D. चक्रवाती

Correct Option: 3

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.8 वाक्य विन्यास की दृष्टि से शुद्ध वाक्य का चयन कीजिए-

A. सत्य का उद्घाटन होने के साथ मेरी ईमानदारी प्रकट होती जाएगी।
B. उद्घाटन होने के साथ सत्य का ईमानदारी प्रकट होती जाएगी मेरी।
C. सत्य का उद्घाटन होने के साथ ईमानदारी प्रकट होती जाएगी मेरी।
D. ईमानदारी प्रकट होती जाएगी सत्य का उद्घाटन होने के साथ मेरी।

Correct Option: 1

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.9 वाक्य विन्यास की दृष्टि से शुद्ध वाक्य का चयन कीजिए-

A. जितनी आशा थी तुम्हें बढ़कर काम हुआ उससे।
B. बढ़कर काम हुआ उससे आशा थी तुम्हें जितनी।
C. उससे बढ़कर काम हुआ तुम्हें जितनी आशा थी।
D. तुम्हें जितनी आशा थी उससे बढ़कर काम हुआ।

Correct Option: 4

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.10 निम्न में से कौन-सा मुहावरा अपने अर्थ से असुमेलित है-

A. खून के आँसू रोना – अतिशय व्यथित होना
B. खून ठंड़ा पड़ना – मर जाना
C. खून गर्म होना – क्रोध आना
D. खून चूसना – दु;ख देना

Correct Option: 2

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Comprehension:निम्नलिखित गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़ें और प्रश्न का उत्तर दीजिए।भारतीय नवजागरण के मुख्य नेता राजा राममोहन राय थे जिन्हें आधुनिक भारत का प्रथम नेता मानना एकदम उचित है। उस समय भारतीय समाज में जाति और परम्परा का बोलबाला था। लोकधर्म अंधविश्वासों से भरा हुआ था। इसका फायदा अज्ञानी लोग और भ्रष्ट पुरोहित लोग उठाते थे। राममोहन राय के मन में प्राच्य दार्शनिक विचार-धाराओं के प्रति गहन प्रेम और आदर था। लेकिन वह यह भी सोचते थे कि केवल पश्चिमी संस्कृति से ही भारतीय समाज का पुनरुत्थान सम्भव था। खासतौर पर वे चाहते थे कि उनके देश के लोग विवेकशील दृष्टि और वैज्ञानिक सोच अपनाए तथा नर-नारियों की मानवीय प्रतिष्ठा और सामाजिक समानता के सिद्धांत को स्वीकार कर लें। वे यह भी चाहते थे कि देश में आधुनिक पूँजीवादी उद्योग आरंभ किए जाए। उन्होंने 1809 में फारसी में अपनी प्रसिद्ध पुस्तक ‘एकेश्वरवादियों को उपहार’ लिखी जिसमें उन्होंने अनेक देवताओं में विश्वास के विरुद्ध और एकेश्वरवाद पक्ष में तर्क दिए। 1814 में उन्होंने ‘आत्मीय सभा’ आरम्भ की। इसके द्वारा विशेष रूप से उन्होंने मूर्तिपूजा, जाति की कट्टरता और निरर्थक धार्मिक कृत्यों के प्रचलन का ज़ोरदार विरोध किया। उनकी धारणा थी कि सभी प्रमुख प्राचीन हिंदू धर्मग्रंथों ने एकेश्वाद की शिक्षा दी। राममोहन राय ने ईसाई धर्म, विशेषकर उसमें निहित अंध-आस्था के तत्त्वों को भी विवेक शक्ति के अनुसार देखने पर ज़ोर दिया। उन्होंने 1820 में ‘प्रीसेप्टस ऑफ जीसस’ नाम की पुस्तक प्रकाशित की जिसमें उन्होंने ‘न्यू टेस्टामेंट’ के नैतिक और दार्शनिक संदेश उसकी चमत्कारी कहानियों से अलग करने की कोशिश की। वे चाहते थे कि ईसा मसीह के उच्च नैतिक संदेश को हिंदू धर्म में समाहित कर लिया जाए। इस प्रकार राममोहन राय का मानना था कि न तो भारत के भूतकाल पर आँखे मूँदकर निर्भर रहा जाए और न ही पश्चिम का अंधानुकरण किया जाए। SubQuestion No : 11Q.11 गद्यांश का उचित शीर्षक दीजिए-

A. राजा राम मोहन राय और धार्मिक चेतना
B. राजा राममोहन राय नवजागरण के अग्रदूत
C. राजा राम मोहन राय : समाज सुधारक
D. राजा राम मोहन राय और अंग्रेज़ सरकार

Correct Option: 2

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.12 1814 में राजा राममोहन राय ने निम्न में से किस संस्था की स्थापना की–

A. आत्मीय सभा
B. ब्राह्म सभा
C. प्रार्थना समाज
D. आर्य समाज

Correct Option: 1

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Q.13 राजा राममोहन राय के ईसाई धर्म के विषय में विचारों के संदर्भ में असत्य है–

A. उन्होंने ईसाई धर्म में उपस्थित अंध आस्था के तत्त्वों का विरोध किया।
B. वह ईसा मसीह के नैतिक संदेशों से प्रभावित होकर ईसाई धर्म के पक्ष में हो गए थे।
C. उन्होंने ‘न्यू टेस्टामेंट’ के नैतिक और दार्शनिक संदेश को महत्त्व दिया।
D. ‘न्यू टेस्टामेंट’ की चमत्कारी कहानियों पर उनकी आस्था नहीं थी।

Correct Option: 2

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

.14 राजा राममोहन राय की पुस्तक ‘एकेश्वरवादियों को उपहार’ के संबंध में असत्य है-

A. इस पुस्तक की रचना हिंदी भाषा में की गई।
B. इस पुस्तक में एकेश्वरवाद की विचारधारा को प्रस्तुत किया।
C. इस पुस्तक में बहुदेववाद का विरोध किया गया।
D. इस पुस्तक की रचना 1809 में हुई।

Correct Option: 1

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

.15 गद्यांश में से निम्न में से क्या निष्कर्ष नहीं निकाला जा सकता-

A. राजा राममोहन राय का मानना था कि यदि भारतीय धार्मिक परम्पराओं और धर्म में सुधार न हो तो ईसाई धर्म अपना लेना चाहिए।
B. राजा राममोहन राय ने हिंदू धर्मग्रंथों का अध्ययन कर प्रमाणित किया कि उनमें एकेश्रवाद की परिकल्पना समाहित है।
C. राजा राममोहन राय ने भारतीय समाज में उपस्थित कुरीतियों को समाप्त करने का प्रयास किया।
D. राजा राममोहन राय के अनुसार न तो भारत के भूतकाल पर आँखें मूँदकर निर्भर रहा जाए न पश्चिम का अंधानुकरण किया जाए।

Correct Option: 1

UPPCL TG2 Paper 7 Nov 2023 Shift 1 Part 4

Category –EE Online Test

Telegram-Join Us On Telegram