UPPCL TG2 Paper 3 Nov 2023 Shift 2 Part 4

UPPCL TG2 Paper 3 Nov 2023 Shift 2 Part 4

UPPCL TG2 Paper 3 Nov 2023 Shift 2 Part 4

UPPCL TG2 Paper 3 Nov 2023 Shift 2 Part 4

Q.1 वाक्य विन्यास की दृष्टि से शुद्ध वाक्य का चयन कीजिए-

A. कि मरीज़ अब बच नहीं सकता हमें विश्वास है।
B. हमें विश्वास है कि मरीज़ अब बच नहीं सकता।
C. विश्वास है हमें कि मरीज़ अब बच नहीं सकता।
D. बच नहीं सकता कि अब मरीज़ हमें विश्वास है।

Correct Option: 2

Q.2 संदिग्ध भूत क्रिया पदो से वाक्य पूर्ण करें—उसने खाना खा लिया ______।

A. था
B. है
C. होगा
D. रहा था

Correct Option: 3

UPPCL TG2 Paper 3 Nov 2023 Shift 2 Part 4

Q.3 ‘हुताशन’ का पर्यायवाची है-

A. पृथ्वी
B. अग्नि
C. वायु
D. आकाश

Correct Option: 2

Q.4 सही मुहावरा है-

A. आसुँओं की कड़ी लगना
B. आसुँओं की बरखा लगना
C. आसुँओं की नदी लगना
D. आसुँओं की झड़ी लगना

Correct Option: 4

UPPCL TG2 Paper 3 Nov 2023 Shift 2 Part 4

Q.5 ‘हतक’ का पर्याय निम्न में से है-

A. स्थिति
B. दूषित
C. अपमान
D. अपकर्ष

Correct Option: 3

Q.6 वाक्य विन्यास की दृष्टि से शुद्ध वाक्य का चयन कीजिए-

A. काम करना होगा मन लगाकर प्राप्त करने के लिए सफलता।
B. प्राप्त करने के लिए सफलता मन लगाकर काम करना होगा।
C. मन लगाकर काम करना होगा प्राप्त करने के लिए सफलता।
D. सफलता प्राप्त करने के लिए मन लगाकर काम करना होगा।

Correct Option: 4

UPPCL TG2 Paper 3 Nov 2023 Shift 2 Part 4

Q.7 ‘गुल करना’ मुहावरे का अर्थ है-

A. बुझाना
B. शोर मचाना
C. छिपा देना
D. बातें करना

Correct Option: 1

Q.8 ‘विकीर्ण’ का विलोम शब्द है-

A. उल्लास
B. अनैक्य
C. अनेक
D. एकत्र

Correct Option: 4

UPPCL TG2 Paper 3 Nov 2023 Shift 2 Part 4

Q.9 उचित विशेषण शब्द से वाक्य पूर्ण करें—______ व्यक्ति जीवन में कभी सफल नहीं होते।

A. परिश्रमी
B. आलसी
C. कठोर
D. सरल

Correct Option: 2

Q.10 कारक विभक्ति चिह्न प्रयोग की दृष्टि से अशुद्ध वाक्य है-

A. राम अयोध्या से वन को गए।
B. उद्यान में रंग-रंग के फूल खिले हैं।
C. सही समय में सही काम करना चाहिए।
D. मोहन की मुर्ग़ियाँ रोज़ अंडे देती हैं।

Correct Option: 3

UPPCL TG2 Paper 3 Nov 2023 Shift 2 Part 4

Comprehension:निम्नलिखित गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़ें और प्रश्न का उत्तर दीजिए।राजा राममोहन राय प्रथम भारतीय नेता है जिन्होंने भारत में राजनीतिक सुधारों के लिए आंदोलन चलाया। 1858 के बाद शिक्षित भारतीयों तथा अंग्रेज़ों के भारतीय प्रशासन के बीच की खाई बढ़ती गई। ब्रिटिश शासन के चरित्र तथा भारतीयों के लिए उसके दुष्परिणामों का अध्ययन करने के बाद यह शिक्षित भारतीय भारत में ब्रिटिश नीतियों के मुखर आलोचक बन गए। उनका असंतोष राजनीतिक कार्यकलाप में अभिव्यक्त हुआ। 1866 में लंदन में दादाभाई नौरोजी ने ईस्ट इंडिया एसोसिएशन की स्थापना की। इसका उद्देश्य भारतीय प्रश्नों पर विचार करना तथा भारत के कल्याण की दिशा में ब्रिटेन के नेताओं को प्रभावित करना था। वे भारत के पहले आर्थिक विचारक भी थे। अपने अर्थशास्त्रीय लेखन में उन्होंने सिद्ध किया कि भारत की गरीबी का कारण अंग्रेज़ों द्वारा उसका शोषण तथा यहाँ का धन ब्रिटेन भेजना था। कांग्रेस-पूर्व राष्ट्रवादी संगठनों में सबसे महत्त्वपूर्ण कलकत्ता में स्थापित इंडियन एसोसिएशन थी। जिसकी स्थापना सुरेंद्रनाथ तथा आनंदमोहन बोस के नेतृत्त्व में बंगाल के राष्ट्रवादियों की। इस एसोसिएशन ने अपने सामने राजनीतिक प्रश्नों पर भारतीय जनता को एकताबद्ध करने का लक्ष्य रखा। जस्टिस रानाडे तथा उनके साथियों ने 1870 में पूना सार्वजनिक सभा की स्थापना की। एम.वीर राघवाचारी, जी.सुब्रामन्य अय्यर, आनंद चारुलू तथा दूसरों ने 1885 में बांबे प्रेसीडेंसी एसोसिएशन बनाया। ए.ओ.ह्यूम ने प्रमुख भारतीय नेताओं के सहयोग से बंबई में दिसंबर में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के पहले अधिवेशन का आयोजन किया। इसकी अध्यक्षता डब्ल्यू. सी. बनर्जी ने की तथा इसमें 72 प्रतिनिधि शामिल थे। राष्ट्रीय कांग्रेस के उद्देश्य इस प्रकार घोषित किए गए- देश के विभिन्न भागों के राष्ट्रवादी राजनीतिक कार्यकर्ताओं के बीच मैत्रीपूर्ण संबंध विकसित करना, जाति-धर्म-प्रांत का भेद किए बिना राष्ट्रीय एकता की भावना को विकसित तथा मज़बूत करना, जनप्रिय मांगों का निरुपण तथा उन्हें सरकार के सामने रखना, और सबसे महत्त्वपूर्ण यह कि देश में जनमत को प्रशिक्षित और संगठित करना। SubQuestion No : 11Q.11 दादाभाई नौरोजी ने ईस्ट इंडिया एसोसिएशन की स्थापना कब और कहाँ की?

A. 1866, दिल्ली
B. 1885, बांबे
C. 1870, पूना
D. 1866, लंदन

Correct Option: 4

UPPCL TG2 Paper 3 Nov 2023 Shift 2 Part 4

Q.12 भारतीयों द्वारा राजनीतिक संस्थाओं की स्थापना करने कारण था-

A. ब्रिटिश शासन के चरित्र तथा भारतीयों पर उसके दुष्परिणाम को समझ जाना।
B. ब्रिटिश शासन के चरित्र तथा उसके द्वारा दिए गए प्रशासन की अच्छाई समझ जाना।
C. ब्रिटिश शासन द्वारा सुव्यवस्थित न्याय प्रशासन की स्थापना के सुपरिणाम को समझ जाना।
D. ब्रिटिश शासन के चरित्र तथा भारतीयों पर उसके सुपरिणाम को समझ जाना।

Correct Option: 1

Q.13 ‘मैत्रीपूर्ण’ का विलोम होगा

A. अनमैत्रीपूर्ण
B. विमैत्रीपूर्ण
C. अवमैत्रीपूर्ण
D. अमैत्रीपूर्ण

Correct Option: 4

UPPCL TG2 Paper 3 Nov 2023 Shift 2 Part 4

Q.14 कांग्रेस की स्थापना के पीछे उद्देश्य नहीं था:

A. जनप्रिय मांगों का निरुपण तथा उन्हें सरकार के सामने रखना।
B. सम्पूर्ण देश के राष्ट्रवादियों के मध्य मैत्रीपूर्ण संबंध स्थापित करना।
C. बिना किसी भी भेदभाव के राष्ट्रीय एकता की भावना विकसित करना।
D. जनमत को अंग्रेज़ी राज्य के पक्ष में प्रशिक्षित एवं संगठित करना।

Correct Option: 4

Q.15 दादाभाई नौरोजी ने निम्न में से कौन-सा आर्थिक सिद्धांत प्रतिपादित किया–

A. मुक्त बाज़ार का सिद्धांत
B. धन की निकासी का सिद्धांत
C. स्वदेशी को प्रोत्साहन का सिद्धांत
D. औद्योगिक संबंध : अहस्तक्षेप का सिद्धांत

Correct Option: 2

UPPCL TG2 Paper 3 Nov 2023 Shift 2 Part 4

Category –EE Online Test

Telegram-Join Us On Telegram